ब्लॉग(Blog) क्या है और अपना ब्लॉग कैसे बनाएं

ब्लॉग क्या है

किसी वेबसाइट जहां पर आप कुछ सिखाते हैं और उसकी जानकारी आप अपने वेबसाइट में मोहिया कराते हैं एक आर्टिकल या पोस्ट के रूप में उसे ब्लॉक कहते हैं.

ब्लॉग का काम है कि जो सर्च किया गया है उसकी जानकारी देना.

जैसे अगर आप किसी चीज की जानकारी लेना चाहते हैं और वह आप गूगल पर सर्च करें तो आपको जो वेबसाइट दिखाई देगा जहां पर आपको उसकी सारी जानकारी मिल सकती है उसे ही ब्लॉक कहते हैं.

 उदाहरण के रूप में.

अगर आपने सर्च किया कि “ अपने बिजनेस के लिए वेबसाइट कैसे बनाएं

तो गूगल आपको कई सहारा जानकारी मुहैया कराएगा जहां पर आप सीख सकते हैं कि आप अपने व्यवसाय के लिए एक वेबसाइट कैसे बनाएं.

उसमें आपको जो रिजल्ट गूगल ने दिखाया वह सब एक-एक ब्लॉग है. अगर आप उसे क्लिक कर अधिक जानकारी लेना चाहे तो आपको सारे जानकारी मिल जाएगी.

क्या ब्लॉग,  ब्लॉगिंग  और ब्लागर एक ही है.

जी नहीं ब्लॉग, ब्लॉगिंग और ब्लागर तीनों अलग अलग चीज है.

ब्लॉग एक वेबसाइट को कहा जाता है जहां आपको किसी चीज के ऊपर पूरी जानकारी मिलती है.  यह जानकारी आपको लिखित या वीडियो यह गाने के रूप में भी हो सकता है.

ब्लॉग लिखने का प्रक्रिया को ब्लॉगिंग कहा जाता है.  ब्लॉगिंग का अर्थ है कि आप कुछ जानकारियां लिख रहे हैं अपने ब्लॉग पर.

ब्लॉगर उन्हें कहा जाता है जो ब्लॉग को अपना पैसा के रूप में चुनते हैं.   जैसे डॉक्टर एक पैसा है वैसे ही आज के जमाने में ब्लॉगर भी एक पैसा है.  जो लोग ब्लॉगिंग या ब्लॉक से जुड़े हुए हैं उन्हें ब्लॉगर कहा जाता है.

अपना ब्लॉग कैसे बनाएं

अगर आप टेक्निकल नॉलेज रखते हैं तो ब्लॉग बनाना काफी सरल है और आप अपना ब्लॉग कुछ ही देर में बना सकते हैं.

पर अगर आपने कभी ब्लॉक नहीं बनाया है तो आपको यह जानकारी लेने में थोड़ी टाइम लग सकती है और एक सही ब्लॉक बनाने में आपको थोड़ी परेशानी आ सकती है.

 ब्लॉक बनाने के लिए आपको तीन चीजों की जरूरत पड़ती है

  1.  डोमेन नेम
  2.  होस्टिंग
  3.  ब्लॉगिंग सॉफ्टवेयर

 1. डोमेन नेम – Domain Name

 डोमेन नेम का अर्थ है जो आपका ब्लॉक का नाम होता है जैसे हमारा ब्लॉक का नाम है “bloggerguruji.com” .  इसे ही डोमिनम कहा जाता है. 

एक डोमेन नेम एक ही वेबसाइट के लिए होता है और उसे दूसरा कोई इस्तेमाल नहीं कर सकता.  डोमेन नेम को आप NameCheap से खरीद सकते हैं  और यह काफी सस्ता में मिलता है.

डोमेन नेम को आपको सालाना एक बार Rs. 1000  से कम का खर्च आता है

 2. होस्टिंग – Hosting

होस्टिंग का अर्थ है अपने ब्लॉक के सारे फाइल्स को ऑनलाइन पोस्ट करना.  साधारण शब्दों में कहा जाए तो इसका मतलब है कि आपके वेबसाइट के सारे फाइल्स इंटरनेट में रहते हैं.  जिसे कोई भी कभी भी कहीं से भी देख सकता है और उसकी पूरी जानकारी ले सकता है.

होस्टिंग एक हार्ड डिस्क की तरह है जो आप ऑनलाइन इस्तेमाल कर सकते हैं.  जैसे आप अपने कंप्यूटर के हार्ड डिस्क में कोई फोटो वीडियो या कुछ भी जानकारी रखते हैं और उसे आप अपने कंप्यूटर से जब मन करे तब इस्तेमाल कर सकते हैं उसी तरह होस्टिंग में आपका वेबसाइट का सहारा जानकारी रहेगा और उसे कोई भी आपके डोमेन नेम के द्वारा खुलकर  सारी जानकारी ले सकता है

होस्टिंग तो ऐसे कई प्रकार के हैं पर आपको शेयर्ड होस्टिंग लेना है और होस्टिंग देने के लिए आप BlueHost  या Hostgator  इस्तेमाल कर सकते हैं.

यह लिंक में क्लिक करें अधिक जानकारी के लिए

https://bloggerguruji.com/en/start-a-blog/bluehost-se-hosting-kaise-kharide/
https://bloggerguruji.com/en/videos/hostgator-se-hosting-kaise-kharide/

3. ब्लॉगिंग सॉफ्टवेयर – Blogging Software

डोमेन नेम और होस्टिंग खरीदने के बाद आपके पास तो नाम और आपका ऑनलाइन एक हार्ड डिस्क आ चुका है जिसे होस्टिंग कहते हैं.

पर अभी भी वह हार्डडिस्क खाली है और अगर आप अपने डोमेन नेम से अपना होस्टिंग अकाउंट में जाते हैं तो आपको वहां पर कुछ नहीं मिलेगा.

क्योंकि एक ब्लॉग चलाने के लिए आपको ब्लॉगिंग सॉफ्टवेयर का भी इस्तेमाल करना पड़ता है.

पर चिंता मत करिए ब्लॉगिंग सॉफ्टवेयर फ्री है और यह दुनिया का सबसे ज्यादा इस्तेमाल किया जाने वाला सॉफ्टवेयर है.

इस  ब्लॉगिंग सॉफ्टवेयर का नाम है WordPress.

BloggerGuruji  भी WordPress  मैं बना हुआ है. WordPress  के लिए आपको कोई रुपया देने की जरूरत नहीं है और इससे अपने होस्टिंग अकाउंट में Install  करना भी बहुत आसान है.

WordPress  इंस्टॉल करने के लिए यह वीडियो देखें या इस लिंक में क्लिक करें अधिक जानकारी के लिए

Leave a Comment

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Scroll to Top